Home देश उत्तराखंड पिथौरागढ़ में पशु बलि प्रथा को त्यागा, हवन कर निभाई परंपरा

पिथौरागढ़ में पशु बलि प्रथा को त्यागा, हवन कर निभाई परंपरा

65
0
SHARE
(जी.एन.एस) ता.09 पिथौरागढ़ जिला मुख्यालय के नजदीकी चार गांवों के लोगों ने मिसाल पेश की है। मंदिर में वर्षों से चली आ रही बलिप्रथा को छोड़कर ग्रामीणों ने हवन यज्ञ के जरिए अपनी धार्मिक परंपराओं का निर्वहन किया। मुख्यालय से 10 से 15 किमी की परिधि में बसे गांव जाखपंत, सिरकूच, लेलू और मजिरकांडा गांव के लोग सदियों से क्षेत्र के असुरचूला मंदिर परिसर के समीप बलि देते आ रहे