Home देश दिल्ही भारत के सुप्रीम कोर्ट ने लाइव ट्रांसक्रिप्शन सेवाओं की शुरुआत की

भारत के सुप्रीम कोर्ट ने लाइव ट्रांसक्रिप्शन सेवाओं की शुरुआत की

22
0
(GNS),13 सीजेआई डीवाई चंद्रचूड़ का कहना है कि कानूनी रिसर्च और न्यायपालिका को नया आकार देने में टेक्नोलॉजी खासतौर पर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) की भूमिका काफी अहम है. शनिवार 13 अप्रैल को आयोजित भारत-सिंगापुर न्यायिक सम्मेलन में सीजेआई ने एआई को गेम-चेंजर बताया. इस दौरान उन्होंने कोलंबिया और भारत के उदाहरणों का हवाला देते हुए उन खास उदाहरणों को स्पष्ट किया और कहा कि एआई विशेष रूप से चैट-जीपीटी का
Existing Users Log In
   
New User Registration
*Required field