Home डॉ. वेदप्रताप वैदिक मंहगाई की मारः नाक में दम

मंहगाई की मारः नाक में दम

86
0
SHARE
डॉ. वेदप्रताप वैदिक —यह संतोष का विषय है कि देश में आई कोरोना की दूसरी लहर अब लौटती हुई दिखाई पड़ रही है। लोग आशावान हो रहे हैं कि हताहतों की संख्या कम होती जा रही है और अपने बंद काम-धंधों को लोग फिर शुरु कर रहे हैं। लेकिन मंहगाई की मार ने आम जनता की नाक में दम कर दिया है। ताजा सरकारी आंकड़ों के मुताबिक थोक मंहगाई दर