Home Politics महाराष्ट्रः राजनीति और भ्रष्टाचार

महाराष्ट्रः राजनीति और भ्रष्टाचार

330
0
SHARE
डॉ. वेदप्रताप वैदिक —महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख का इस्तीफा काफी पहले ही हो जाना चाहिए था। लेकिन हमारे नेताओं की खाल इतनी मोटी हो चुकी है कि जब तक उन पर अदालतों का डंडा न पड़े, वे टस से मस होते ही नहीं। देशमुख ने अपने पुलिसकर्मी सचिव वझे से हर माह 100 करोड़ रु. उगाह के देने को कहा था, इस बात के खुलते ही एक से एक
Existing Users Log In
   
New User Registration
*Required field