Home देश दिल्ही समलैंगिकता अपराध नहीं, सर्वोच्च न्यायालय का सर्वोच्च फैसला!

समलैंगिकता अपराध नहीं, सर्वोच्च न्यायालय का सर्वोच्च फैसला!

34
0
SHARE
समलैंगिकता अब अपराध नहीं है, सर्वोच्च न्यायालय ने इस मामले में बड़ा फैसला सुनाया है। इसी के साथ कोर्ट ने समलैंगिकता को अपराध करार देने वाली आईपीसी की धारा 377 के कुछ प्रावधानों को खत्म कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि निजता का अधिकार मौलिक अधिकार है। देश में सभी को समानता का अधिकार है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा- निजता का अधिकार मौलिक अधिकार है समलैंगिकता को अपराध करार