Home देश दिल्ही सूचना प्रौद्योगिकी को प्रदूषण नियंत्रण व्यवस्था में शामिल किया जाना चाहिए, इस...

सूचना प्रौद्योगिकी को प्रदूषण नियंत्रण व्यवस्था में शामिल किया जाना चाहिए, इस प्रणाली से भ्रष्टाचार का प्रदूषण साफ करने की जरूरत है – डॉ. हर्षवर्धन

63
0
SHARE
(जी.एन.एस.)२७ जून, नई दिल्ली। केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन, विज्ञान और प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने प्रदूषण को नियंत्रित तथा कम करने के प्रयासों में पारदर्शिता और निपुणता बढ़ाने के लिए प्रदूषण नियंत्रण व्यवस्था में सूचना प्रौद्योगिकी को शामिल करने की जोरदार वकालत की। आज प्रदूषण नियंत्रण बोर्डों/समितियों के अध्यक्षों और सदस्य सचिवों के 62वें सम्मेलन के उद्धाटन सत्र को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा कि